WhatsApp Image 2022 06 10 at 7.08.46 PM

मेरठ के किठौर थाना क्षेत्र के कस्बा शाहजहांपुर निवासी पेशे से डॉक्टर एक युवक ने बीते शुक्रवार को गढ़ रोड स्थित होटल हंग्रीज में प्रेस वार्ता की। प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने पत्रकारों से आपबीती साँझा करते हुए आरोप लगाया की किराए पर लिये रेस्टोरेंट पर रसूखदार रेस्टोरेंट स्वामी महीनों से जबरन ताला जड़कर उन्हें धमकी देकर माल हड़प कर बेदखल करने में लगा है।

दरहसल,आरोप है कि कस्बा शाहजहांपुर निवासी जुबीन खान पुत्र स्वर्गीय शफीक अहमद खान ने कस्बा किठौर स्थित फव्वारा चौक के सामने रेस्टोरेंट्स संचालित करने हेतु चार दुकाने किठौर निवासी जाहिद हुसैन पुत्र वसी उज़्ज़मा से 20 हज़ार रूपये महीना की दर से किराए पर ली थी, जिसमें बतौर पगड़ी एक लाख रूपये भी ज़ुबीन ने दुकान स्वामी को देकर रेस्टोरेंट के सौंदर्य करण में लाखों रुपया खर्च किया था। जिसमें उसने चस्का चाऊमीन फूड नाम से रेस्टोरेंट्स चलाना शुरु कर दिया। अब जुबीन का आरोप है कि उसका रेस्टोरेंट्स अच्छा चलते देख रेस्टोरेंट स्वामी व उसके लड़कों की नियत में फितूर आ गया और उसके रेस्टोरेंट में अचानक ताला जड़ दिया। रेस्टोरेंट में ताला लगा हुआ देख ज़ुबिन ने रेस्टोरेंट्स स्वामी के लड़के फैसल से फ़ोन पर बात की तो उसने ताला जड़ने की बात स्वीकार की। जिसकी रिकॉर्डिंग भी ज़ुबिन ने कर ली थी। जिसकी शिकायत ज़ुबीन ने संबंधित थाना किठौर पर की, लेकिन राजनीतिक रसूख के चलते उपरोक्त लोग बाज़ नहीं आए और रेस्टोरेंट को खोलने नहीं दिया। आरोप है कि जब रेस्टोरेंट्स स्वामी व उसके लड़कों से पगड़ी में दिया हुआ 1 लाख रुपया व रेस्टोरेंट में रखा हुआ कीमती सामान वापस मांगा तो जाहिद हुसैन अपने लड़कों के साथ मिलकर आमादा फौजदारी हो गये और ज़ुबिन को धमकी देकर भगा दिया। कुछ दिन बाद उसके रेस्टोरेंट जिसका दरवाज़ा पीछे गली से भी खुलता है उसके किचिन का ताला तोड़कर उसमे रखा हुआ क़ीमती सामान निकाल लिया जिसकी शिकायत उसने 31/10/ 2021 को पुलिस अधीक्षक ग्रामीण से की थी। जिसमें उन्होंने क्षेत्राधिकारी किठौर को जाँच के आदेश दिये थे। इसी सम्बन्ध में उसने जिलाधिकारी मेरठ को दूसरा प्रार्थना पत्र 04/05/2022 को दिया। ज़ुबीन का आरोप है कि उपरोक्त लोग तभी से कार्यवाही से बचने के लिए फैसले का दबाव बना रहे हैं। और साथ ही उसे झूठे मुकदमों में फंसाने की धमकी भी दे रहे हैं। ज़ुबिन का कहना है उसे डर है कि कहीं ये लोग उसके साथ कोई अनहोनी घटना ना कर दें। उसने पुनः आहत होकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी व मुख्यमंत्री को पोर्टल के माध्यम से प्रार्थना पत्र देकर अपनी व अपने परिवार जनों की सुरक्षा की गुहार लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है।