img 6578

Ghaziabad: (agency) गर्मियों में सबसे जरूरी पानी होता है. जबकि खुद को हाइड्रेट रखने के लिए डॉक्टर भी गर्मियों में अधिक पानी पीने की सलाह देते है. हालांकि गाजियाबाद नगर निगम की लापरवाही के कारण लोगों पानी भी नसीब नहीं हो पा रहा है.

गाजियाबाद के मोहन नगर बस अड्डे में काफी यात्रियों की चहल-पहल रहती है. यहां दिल्ली एनसीआर के लोग रोजाना आवाजाही करते है. ऐसे में यहां नगर निगम की तरफ से वर्ष 2021 में नि:शुल्क आरओ वाटर प्लांट लगाया गया था, लेकिन तब से अब तक इसमें पानी नहीं आया. अब हालत ये है कि जिस चबूतरे पर पानी दिखना चाहिए था वहां सिर्फ मिट्टी पड़ी हुई है. यहां से गुजरने वाले यात्रियों को आसपास की दुकानों से बोतलबंद पानी खरीदना पड़ रहा है.

पास के हॉस्टल में रहने वाले छात्र गुलशन कुमार ने बताया कि सुबह-शाम वॉक पर निकलने वक्‍त अगर प्यास लगती है, तब भी बोतल ही खरीदनी पड़ती है. जब ये प्लांट यहां पर बनाया गया है, तब से ही शुरू नहीं हो पाया है. यही नहीं, हजारों यात्री रोज आते हैं, लेकिन फिर भी नगर निगम इस समस्या को नजरअंदाज कर रहा है.

बहरहाल, गाजियाबाद नगर निगम जिस तरीके से सोशल मीडिया पर प्रचार-प्रसार करता है, वैसा हकीकत में कुछ नहीं. इस पड़ताल में नगर निगम फेल हुआ. पानी की समस्या पर नगर निगम के जलकल विभाग के महाप्रबंधक से कई बार बात करने की कोशिश की गई पर संपर्क नहीं हो पाया.