img 6572

Meerut: (agency) कट्टर खालिस्तान समर्थक और ”वारिस पंजाब दे” के प्रमुख अमृतपाल की पंजाब में गिरफ्तारी के बाद कई राज्यों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। ऐसे में मेरठ पुलिस भी छानबीन करेगी। आशंका जताई जा रही है कि मेरठ में भी खालिस्तान समर्थक हो सकते हैं, जिन्होंने अमृतपाल को शरण दी थी। बता दें कि करीब एक माह से पंजाब पुलिस अमृतपाल के पीछे लगी थी लेकिन, वह हाथ नहीं आ रहा था। लगभग 20 दिन पहले उसकी लोकेशन मेरठ में भी मिली थी। इसके बाद पंजाब पुलिस ने मेरठ में भी छापामारी की थी। उस वक्त सामने आया था कि अमृतपाल बेगमपुल से ऑटो में सवार होकर दौराला की तरफ गया था।

इसके बाद पुलिस ने अजय नाम के ऑटो चालक से भी पूछताछ की थी। अब अमृतपाल की गिरफ्तारी के बाद पुलिस अलर्ट हो गई है। यह पता किया जा रहा है कि अमृतपाल कब, किसके यहां और कितने दिन तक रुका। इसके अलावा अमृतपाल और उसे शरण देने वालों के बीच क्या रिश्ता है। वह अमृतपाल का कोई रिश्तेदार है या फिर खालिस्तानी समर्थक। हर तथ्य पर जांच होगी।

तलाशा जाएगा बेगमपुल और दौराला के बीच कनेक्शन
जांच में सबसे पहले बेगमपुल और दौराला के बीच का कनेक्शन खंगाला जाएगा। आशंका है कि इसी बीच कहीं न कहीं अमृतपाल रुका है। इसके लिए ऑटो चालकों से भी जानकारी जुटाई जा रही है। साथ ही होटल आदि का रिकॉर्ड भी खंगाला जाएगा। यदि अमृतपाल को शरण देने वाला पुलिस के हत्थे चढ़ता है तो इसमें बड़ा खुलासा हो सकता है।

थाने में हिंसा और भड़काऊ भाषण के बाद आया था निशाने पर
अमृतपाल पर भड़काऊ भाषण समेत कई मामले दर्ज हैं। पिछले माह अमृतपाल और उसके साथियों ने पंजाब के अजनाला थाने में भी हिंसा की थी। उन्होंने अपहरण के आरोपी लवप्रीत तूफान को छुड़ाने के लिए हिंसा की थी। तभी से पुलिस उसके पीछे लगी थी।