img 6061

GHAZIABAD: (agency) गाजियाबाद के मुरादनगर में मसूरी मार्ग चितौड़ा पुल से पहले गंगनहर पटरी के पास जंगल में शनिवार सुबह आयकर निरीक्षक रनपाल सिंह और उनकी पत्नी रेखा का शव मिला। रनपाल का शव पेड़ से लटका हुआ था, जबकि रेखा का शव कुछ दूरी पर पड़ा था। वह आर्मी से भी सेवानिवृत्त थे। चार दिन पूर्व बुलंदशहर से वैशाली के लिए बाइक से दंपती निकले थे। मौके से पुलिस ने जरूरी साक्ष्य एकत्र किए।

जनपद बुलंदशहर बीबीनगर के तिबड़ा गांव निवासी रनपाल सिंह (42)अपनी पत्नी रेखा (38), बेटी महिका, बेटे दिशांत के साथ गाजियाबाद वैशाली सेक्टर-4 शिप्रा टावर के फ्लैट नंबर तीन में रहते थे।

वर्तमान में दिल्ली में आयकर निरीक्षक के पद पर कार्यरत थे। आठ मार्च को रनपाल सिंह बाइक से अपनी पत्नी रेखा के साथ तिबड़ा गांव बुलंदशहर में होली खेलने गए थे। होली खेलने के बाद दोपहर करीब तीन बजे दंपती बाइक से वैशाली अपने घर के निकले। घर नहीं पहुंचने पर परिजनों ने फोन किया, तो दोनों के मोबाइल बंद आ रहे थे।

भाई रतिपाल ने नौ मार्च को दोनों की गुमशुदगी बुलंदशहर बीबीनगर थाने में दर्ज कराई। डीसीपी ग्रामीण जोन रवि कुमार ने बताया कि शनिवार सुबह करीब 11 बजे किसी बकरी चराने वाले ने सूचना दी कि गंगनहर किनारे चितौड़ा पुल से पहले जंगल में किसी व्यक्ति का शव पेड़ पर लटका पड़ा है और महिला का शव नीचे पड़ा है।

सूचना मिलते ही एसीपी निमिष पाटिल और थाना प्रभारी सतीश कुमार मय पुलिस फोर्स के मौके पर पहुंचे। मौके पर शवों के पास बाइक, हेलमेट व अन्य सामान पड़ा था।

आशंका: पत्नी की हत्या करने के बाद की आत्महत्या
आठ मार्च की दोपहर करीब तीन बजे रनपाल सिंह बाइक से अपनी पत्नी रेख के साथ वैशाली घर जाने के लिए निकले थे, शाम करीब 4.06 बजे दोनों छिजारसी टोल पर बाइक पर एक साथ नजर आए। उसी दिन रनपाल मुरादनगर गंगनहर के पास शाम करीब 5.05 बजे बाइक पर सीसीटीवी कैमरे में अकेले नजर आए। दोनों के मोबाइल और पर्स नहीं मिले हैं।