नेहा दीवान की शनिवार को साकेत स्तिथ ससुराल में एंट्री नहीं होने दी गई,कार में कैमरे से खुद को बचाती नजर आयी नेहा।
  • दीवान इंटरनेशनल व ग्लोबल का संचालन है अजय दीवान के पास
  • पत्नी नेहा दीवान से तलाक का चल रहा विवाद
  • शनिवार की सुबह साकेत स्तिथ घर के गेट बंद होने के कारण पुलिस की मौजूदगी के बावजूद भीतर एंट्री नहीं कर पाई नेहा
  • अजय पर नेहा ने लगाया था चाय में ज़हर देने का आरोप

मेरठ के साकेत में शनिवर सुबह हाई वोल्टेज ड्रामा देखने को मिला। यहां दीवान समूह के परिवार की बहू नेहा दीवान को घर में एंट्री नहीं मिली तो वह डेढ़ घंटे तक बाहर ही खड़ी रही। इस दौरान नेहा ने खूब हंगामा किया और कहा कि उसे घर में एंट्री दी जाए लेकिन ससुराल वालों ने दरवाजा नहीं खोला। वहीं नेहा के हंगामे के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और नेहा दीवान को थाने ले गई। वहीं पुलिस ने परिवार से भी इस मामले को लेकर बातचीत की।

दीवान समूह के परिवार की बेटे बहू में आपसी पारिवारिक विवाद चल रहा है। नेहा ने सिविल लाइन थाने में अजय दीवान के खिलाफ उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया था। पिछले तीन दिन से यह मामला चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअलस ,दीवान इंटरप्राइजेज के निदेशक अजय दीवान का परिवार 70ए साकेत में रहता है। अजय व संजय दो भाई हैं। इनका रिठानी में दीवान इंटरनेशनल और जागृति विहार में ग्लोबल दीवान हैलो किड्स नामक स्कूल है। हैलो किड्स का काम अजय की पत्नी नेहा दीवान देखती हैं। जानकारी के मुताबिक वेस्ट एंड रोड स्थित दीवान पब्लिक स्कूल व जागृति विहार स्थित दीवान पब्लिक स्कूल का मालिकाना हक राजेश दीवान के पास है। इन दोनों ही स्कूलों का अजय अथवा संजय दीवान से कुछ लेना देना नहीं हैं।

नेहा व अजय
नेहा व अजय

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक नेहा व अजय ने 18 जुलाई 2002 को लव मैरिज की थी। नेहा बेगमबाग में रहती थी और उम्र में अजय से करीब 20 साल छोटी है। दोनों के दो बेटी व एक बेटा है। नेहा का आरोप है कि अजय दूसरी शादी करना चाहता है और इसके लिये करीब डेढ़ साल से तलाक का मुकदमा विचाराधीन है।
इसी सप्ताह नेहा दीवान ने यह कहते हुए सनसनी फैला दी थी कि अजय ने चाय में जहर देकर उसे मारने की कोशिश की है। गंभीर हालात में नेहा को पास ही स्थित नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था। इस आशय की तहरीर सिविल लाइन थाने को भी दी गई थी। पुलिस का कहना है कि अभी तक उनके पास पर्याप्त साक्ष्य नहीं हैं लिहाजा अजय की गिरफ्तारी फिलहाल नहीं की जा रही है। हालांकि अजय तभी से भूमिगत बताया जा रहा है। अजय का मोबाइल भी बंद बताया जा रहा है।

शनिवार की सुबह करीब साढ़े नौ बजे नेहा दीवान कार से साकेत स्थित 90 ए घर पहुंची तो भीतर से गेट बंद मिला। तमाम कोशिश की गई लेकिन गेट नहीं खोला गया। इस मकान में अजय की माता प्रशंता दीवान रहती हैं। बाहर काफी देर तक शोरशराबा होता रहा। सूचना पाकर सिविल लाइन थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गयी। गेट के अलावा इधर उधर संपर्क किया गया लेकिन भीतर से गेट नहीं खोला गया। बताया गया है कि नेहा दीवान परसो शाम कहीं गई थी, आज वापस लौटी तो गेट नहीं खोला गया। इस बारे में नेहा दीवान से बात करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

इससे पहले सिविल लाइन पुलिस शुक्रवार को भी साकेत पहुंची थी। नेहा दीवान के बयान नहीं हुए और अजय दीवान का मोबाइल नंबर बंद बताता रहा।इंस्पेक्टर सिविल लाइन विसंबर दयाल गंगवार का कहना कि दंपती के बयान के बाद ही पुलिस की विवेचना आगे बढ़ेगी। चाय में जहर देने के आरोप की पुष्टि फॉरेंसिक लैब की रिपोर्ट से होगी।

आपको बता दे की साकेत निवासी अजय दीवान पर उनकी पत्नी नेहा दीवान ने उत्पीड़न का आरोप लगाकरथाना लाइन्स में एक मुकदमा दर्ज कराया था। मामला दीवान समूह के परिवार से जुड़ा होने के कारण ही प्रोफाइल बन गया है। इसके चलते पुलिस तथ्यों के आधार पर ही कार्रवाई करने की बात कह रही है। वहीं शनिवार सुबह फिर से नेहा ने घर के बाहर पहुंचकर हंगामा कर दिया।