img 6201

Air India: (agency) मलेशिया के कुआलालंपुर से काठमांडू आ रहा नेपाल एयरलाइंस का विमान और नई दिल्ली से काठमांडू आ रहा एअर इंडिया का विमान लगभग टकराने की स्थिति में आ गए थे. एयर इंडिया का विमान 19,000 फुट से नीचे उतर रहा था जबकि नेपाल एयरलाइंस का विमान उसी स्थान पर 15,000 फुट की ऊंचाई पर उड़ रहा था.

नेपाल में उस समय हड़कंप मच गया जब बीच हवा में एअर इंडिया और नेपाल एयरलाइंस के विमान टकराने के करीब आ गए. गनीमत रही कि समय रहते चेतावनी प्रणाली ने पायलटों को सतर्क कर दिया, जिससे एक बार फिर बड़ा विमान हादसा होने से टल गया. दरअसल, मामला शुक्रवार का है. जब मलेशिया से आ रहा नेपाल एयरलाइंस का विमान और दिल्ली से आ रहे एअर इंडिया का विमान टकराने की स्थिति में आ गए. जिससे विमानों में बैठे यात्रियों की सांसे थम गई.

न्यूज एजेंसी के मुताबिक रविवार को मामले की जानकारी देते हुए सीएएएन के प्रवक्ता जगन्नाथ निरौला ने बताया कि नेपाल के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएएएन) ने लापरवाही के लिए हवाई यातायात नियंत्रक विभाग के दो कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है. शुक्रवार की सुबह मलेशिया के कुआलालंपुर से काठमांडू आ रहा नेपाल एयरलाइंस का विमान और नई दिल्ली से काठमांडू आ रहा एअर इंडिया का विमान लगभग टकराने की स्थिति में आ गए थे. 

निरौला ने बताया कि एअर इंडिया का विमान 19,000 फुट से नीचे उतर रहा था जबकि नेपाल एयरलाइंस का विमान उसी स्थान पर 15,000 फुट की ऊंचाई पर उड़ रहा था. राडार पर यह दिखाने के बाद कि दोनों विमान नजदीक में हैं, नेपाल एयरलाइंस का विमान 7,000 फीट नीचे उतर गया. जिससे हादसा होने से टल गया.उन्होंने बताया कि नागर विमानन प्राधिकरण ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय जांच समिति का गठन किया है. सीएएएन ने उन दो अधिकारियों को निलंबित कर दिया है, जो घटना के समय कंट्रोल रूम के प्रभारी थे. वहीं मामले को लेकर एयर इंडिया की ओर से अभी तक कोई बयान नहीं आया है.