b1441789 4f4f 4d16 ace1 d0ab12adcb48

उत्तर प्रदेश के जालौन में मकान की खुदाई के दौरान अचानक जमीन से प्राचीन समय के चांदी के सिक्के निकलना शुरू हो गए। जमीन से खजाना निकलने की खबर जैसे ही गांव में फैली वहां लोगों की भीड़ जुटना शुरू हो गई। संपत्ति के मालिक ने खजाने निकलने की सूचना जिला प्रशासन को दी। मौके पर पहुंची जिला प्रशासन की टीम ने घेराबंदी कर वहां अपना डेरा जमाया और इसकी सूचना पुरातत्व विभाग को दी। बाद में प्रशासन ने अपनी देख-रेख में खुदाई का काम कराया।

जानकारी के मुताबिक, जालौन कोतवाली क्षेत्र के व्यासपुरा गांव के रहने वाले कमलेश कुशवाहा अपने मकान के निर्माण के लिए वहां पर खुदाई करा रहे थे। इसी दौरान जमीन से पहले तो कुछ चांदी के कड़े निकले और फिर चांदी के सिक्के निकलना शुरू हो गए। खुदाई कर रहे मजदूर इन सिक्कों को देखकर हैरत में पड़ गए और जमीन मालिक को इसकी जानकारी दी। बाद में कमलेश कुशवाहा ने पूरे मामले को जिला प्रशासन को अवगत कराया और प्रशासन ने अपनी मौजूद मौजूदगी में भारी पुलिस फोर्स को तैनात कर वहां घेराबंदी कर दी और पुरातत्व विभाग की जानकारी देते हुए वहां खुदाई का काम शुरू कराया।

161 साल पुराने हैं सिक्के, ब्रिटिश काल में थे प्रचलित

बताया जा रहा है कि जब मजदूर जमीन की खुदाई कर रहे थे तो इस दौरान उन्हें एक चांदी का बर्तन मिला, जिसमें ढाई सौ से ज्यादा सिक्के और कुछ जेवरात भी थे। मजदूरों ने यह खजाना देख इसकी जानकारी संपत्ति मालिक कमलेश को दी। मौके पर पहुंची जिला प्रशासन और पुरातत्व विभाग की टीम ने बताया कि यह ब्रिटिश काल के सिक्के हैं, जो 1862 में प्रचलन में थे। अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह चांदी के सिक्के 161 साल पुराने हैं।

आसपास कराई जा रही खुदाई

कमलेश कुशवाहा के मकान में खुदाई के दौरान मिले सिक्कों को जिला प्रशासन ने अपने कब्जे में ले लिया है और वहां निगरानी के लिए पुलिस फोर्स की तैनाती कर दी है, जिससे वहां पर कोई माहौल न बिगड़ सके। फिलहाल देर रात तक चली खुदाई के बाद ढाई सौ से ज्यादा सिक्कों को जिला प्रशासन ने अपने कब्जे में ले लिया है। वहीं, मौके पर पहुंचे एसडीएम राजेश सिंह ने बताया कि सिक्कों के साथ कुछ चांदी के जेवरात भी मिले हैं, जिनकी प्राचीनता की जांच के लिए उन्हें पुरातत्व विभाग को सौंपा गया है और इसके पहले कितने सिक्के बरामद हुए हैं। इसकी जांच की जा रही है।